रासायनिक अभिक्रिया एवं समीकरण के प्रश्न उत्तर Subjective Question Answer class 10th 2021

रासायनिक अभिक्रिया एवं समीकरण class 10th Questions

रासायनिक अभिक्रिया एवं समीकरण के प्रश्न उत्तर | रासायनिक अभिक्रिया एवं समीकरण के प्रश्न उत्तर pdf | rasayanik abhikriya avam samikaran long question answer | class 10th chemistry important questions | rasayanik abhikriya avam samikaran class 10th question answer

रासायनिक अभिक्रिया एवं समीकरण के प्रश्न उत्तर PDF

1. लोहे की वस्तओं को हम क्यों पेंट करते हैं ? 

उत्तर ⇒ पेंट करने से लोहे के पदार्थ का ऊपरी भाग छुप जाता है। वह वायु के साथ सीधे संपर्क में नहीं आता है जिसके कारण उसमें जंग नहीं लगता। इसलिए पेट करने से हम लोहे के उस पदार्थ को जंग लगने से बचा सकते हैं।


2 . तेल एवं वसायुक्त खाद्य पदार्थों को नाइट्रोजन से प्रभावित क्यों किया जाता है ?

उत्तर ⇒ तेल एवं वसायुक्त खाद्य पदार्थ को वायुरोधी बर्तनों में रखने से उपचयन की गति धीमी हो जाती है। तेल एवं वसायुक्त पदार्थ को नाइट्रोजन से भी इसीलिए युक्त किया जाता है ताकि उसमें उपचयन न हो सके।


3. कॉपर सल्फेट के विलयन में लोहे का एक टुकड़ा डाल देने पर विलयन का रंग क्यों बदल जाता है ?

उत्तर ⇒ जब लोहे की कील को कॉपर सल्फेट के विलयन में डुबोया जाता है तो वह भूरे रंग का हो जाता है। लोहा कॉपर सल्फेट के घोल में से कॉपर को विस्थापित कर देता है।

Fe+CuSO 4 → FeSO 4 +Cu


4. उत्प्रेरक से आप क्या समझते हैं ?

उत्तर ⇒ वैसे पदार्थ जो स्वयं रासायनिक प्रतिक्रिया में भाग नहीं लेते हैं लेकिन प्रतिक्रिया के वेग को बढ़ाते हैं या घटाते हैं, उसे उत्प्रेरक कहते हैं। जैसे-Fe उत्प्रेरक की उपस्थिति में बेंजीन के हाइड्रोजन परमाणु का क्लोरीन परमाणु द्वारा प्रतिस्थापन- 

C 6 H6+Cl 2  → C6H 5Cl + HCl

बेंजीन + क्लोरीन → क्लोरोबेंजीन + हाइड्रोजन क्लोराइड


 5. वायु में जलाने से पहले मैग्नीशियम रिबन को साफ क्यों किया जाता है ?

उत्तर ⇒ यदि मैग्नीशियम रिबन नम वायु के संपर्क में रहता है तो उस पर सफेद रंग की मैग्नीशियम ऑक्साइड की पर्त जम जाती है, यह पर्त मैग्नीशियम के जलने में अवरोध पैदा करती है। इसलिए मैग्नीशियम रिबन को पहले रेगमार से साफ किया जाता है।


 6. प्रतिस्थापन अभिक्रिया क्या हैं ? उदाहरण दे ।

उत्तर ⇒ वह रासायनिक अभिक्रिया जिसमें अधिक अभिक्रियाशील धातु अपने से कम अभिक्रियाशील धातु को यौगिक के विलयन या गलित अवस्था से विस्थापित कर देती है उसे प्रतिस्थापन अभिक्रिया कहते हैं।

Fe+CuSO 4 → FeSO 4 +Cu

इस रासायनिक अभिक्रिया में Fe जो कि अधिक अभिक्रियाशील है Cu की अपेक्षा उसे विस्थापित कर उसके स्थान पर स्वयं को प्रतिस्थापित कर रहा है।


7. वियोजन अभिक्रिया से आप क्या समझते हैं ?

उत्तर ⇒ वियोजन अभिक्रिया-जब एक बड़ा यौगिक टूटकर दो या दो से अधिक यौगिकों में परिणत हो जाता है तो वैसी अभिक्रिया वियोजन अभिक्रिया कहलाती है।

2KCIO 2KCl+302


8. संतुलित रासायनिक समीकरण क्या है ? रासायनिक समीकरण को संतुलित करना क्यों आवश्यक है ? .

उत्तर ⇒ संतुलित रासायनिक समीकरण वह है जिसमें अभिकारकों और उत्पादों में विभिन्न तत्त्वों के परमाणुओं की संख्या समान होती है। रासायनिक अभिक्रियाओं में द्रव्यमान के संरक्षण के नियम को संतुष्ट करने के लिए रासायनिक समीकरण संतुलित होनी चाहिए।


9. ऊष्माक्षेपी एवं ऊष्माशोषी अभिक्रिया का क्या अर्थ है ? 

उत्तर ⇒ ऊष्माक्षेपी अभिक्रिया –  ऐसी अभिक्रियाएँ जिनमें ऊष्मा निकलती हैं,  ऊष्माक्षेपी अभिक्रियाएँ कहलाती हैं।
उदाहरण — मीथेन दहन की अभिक्रिया ऊष्माक्षेपी अभिक्रिया है।

CH4 (g) + 2O2 (g) → CO2 (g) + 2H20 (g) + ऊर्जा (880.4 kJ mol-1)

 ऊष्माशोषी अभिक्रियाएँ –  ऐसी अभिक्रियाओं को जिनमें ऊष्मा अवशोषित होती है, ऊष्माशोषी अभिक्रियाएँ कहते हैं।
उदाहरण — बेरियम डाइऑक्साइड तथा अमोनियम थायासायनेट की अभिक्रिया ऊष्माशोषी है। .

Ba(OH)2.8H2O(s)+2NH4 SCN(s) → Ba(SCN)2 (aq)+2NH3 (aq) + 10H2O (l)


10. अवक्षेपण अभिक्रिया से आप क्या समझते हैं ? उदाहरण देकर समझाएँ।

उत्तर ⇒ जब दो विलयनों को मिलाया जाता है और उनकी अभिक्रिया से श्वेत रंग के एक पदार्थ का निर्माण होता है जो जल में अविलेय है, तो इस अविलेय पदार्थ के अवक्षेप कहते हैं । जिस अभिक्रिया में अवक्षेप का निर्माण होता है उसे अवक्षेपण अभिक्रिया कहते हैं।

Na2SO 4 (aq) + BaCl 2 (aq) → BaSO4 (s) + 2NaCl (aq)

Ba 2+ तथा SO 42   अभिक्रिया से BaSO4 के अवक्षेप का निर्माण होता है।


11. श्वसन को ऊष्माक्षेपी अभिक्रिया क्यों कहते हैं ? वर्णन कीजिए।

उत्तर ⇒ हमें जीवित रहने के लिए ऊर्जा चाहिए । यह ऊर्जा हमें भोजन से मिलती है, जिसे हम खाते हैं। पाचन के दौरान, भोजन सरल पदार्थों में टूट जाता है। उदाहरण के लिए चावल, आलू तथा ब्रेड में कार्बोहाइड्रेट होता है। ये कार्बोहाइड्रेट टूटकर ग्लूकोस बनाते हैं। यह ग्लूकोस हमारे शरीर की कोशिकाओं में ऑक्सीजन से संयोग करते हैं और ऊर्जा प्रदान करते हैं। इस अभिक्रिया का विशेष नाम श्वसन है।

C 6H 12O 6 (aq) + 602 (aq) ——-→ 6CO2 (ar) + 6H2O (1) + ऊर्जा

ग्लूकोज चूँकि श्वसन अभिक्रिया में ऊष्मा निकलती है, अतः श्वसन अभिक्रिया ऊष्माक्षेपी अभिक्रिया है।


12. प्रकाश-अपघटन अभिक्रिया से क्या समझते हैं ?

उत्तर ⇒ अपघटन अभिक्रिया : अपघटन या वियोजन वह अभिक्रिया है, जिसमें किसी यौगिक के बड़े अणु के टूटने से दो या दो से अधिक पदार्थ बनते हैं, जिनके गुण मूल यौगिक के गुण से बिल्कुल भिन्न होते हैं।

प्रकाश-ऊर्जा द्वारा अपघटन :

2AgCl(s)  —सूर्य का प्रकाश  → 2Ag(s) + Cl 2 (g)


13. वियोजन अभिक्रिया को संयोजन अभिक्रिया के विपरीत क्यों कहा जाता है ? 

उत्तर ⇒ वे अभिक्रियाएँ जिनमें दो या अधिक पदार्थ संयुक्त होकर केवल एक पदार्थ बनाते हैं, संयोजन अभिक्रियाएँ कहलाती हैं तथा वे अभिक्रियाएँ जिनमें यौगिक दो अधिक सरल पदार्थों में टूटता है, वियोजन अभिक्रियाएँ कहलाती हैं। अतः वियोजन अभिक्रिया, संयोजन अभिक्रिया के बिल्कुल विपरीत है।


रासायनिक अभिक्रिया एवं समीकरण OBJECTIVE CLASS 10TH 

rasayanik abhikriya avam samikaran ka objective | रासायनिक अभिक्रिया एवं समीकरण के प्रश्न उत्तर | रासायनिक अभिक्रिया एवं समीकरण क्लास 10th | rasayanik abhikriya kya hai | रासायनिक अभिक्रिया एवं समीकरण क्लास 10th

 रासायनिक अभिक्रिया एवं समीकरण Questions

  1. विज्ञान SCIENCE CLASS 10TH OBJECTIVE
  2. रासायनिक अभिक्रिया एवं समीकरण | Online Test
  3. विज्ञान कक्षा 10 SCIENCE [ Online Test / MCQ Quiz ]
  4. Science Online Test For Matric Exam 2021
  5. मैट्रिक परीक्षा 2020 || SCIENCE- विज्ञान || OBJECTIVE

 

error: